ग्लोबल एनालिसिस एंड असेसमेंट ऑफ़ सैनिटेशन एंड ड्रिंकिंग वाटर (GLAAS) रिपोर्ट जारी

ग्लोबल एनालिसिस एंड असेसमेंट ऑफ़ सैनिटेशन एंड ड्रिंकिंग वाटर (GLAAS) 2017 रिपोर्ट में 75 देशों और 25 बाहरी सहायता एजेंसियों का सस्टेनेबल डेवलपमेंट गोल्स के तहत पानी और स्वच्छता के लिए सार्वभौमिक उपयोग के वित्तपोषण से संबंधित मुद्दों पर सबसे विश्वसनीय और अप-टू-डेट डेटा का विश्लेषण प्रस्तुत किया गया है।

स्वास्थ्य और आजीविका का समर्थन करने और स्वस्थ वातावरण बनाने में मदद करते हुए, सुरक्षित पेयजल और स्वच्छता मानव कल्याण के लिए महत्वपूर्ण हैं। असुरक्षित पानी पीने से बीमारियों जैसे कि दस्त हो जाते हैं जिससे मानव स्वास्थ्य खराब हो जाता है, और अनुपचारित सीवेज, पीने के पानी की आपूर्ति और पर्यावरण को दूषित कर सकता है, जिससे समुदायों पर भारी बोझ पैदा हो सकता है।

संयुक्त राष्ट्र की रिपोर्ट में कहा गया है कि पिछले 3 सालों में देशों ने 4.9 फीसदी औसत वार्षिक दर से पानी, स्वच्छता और स्वच्छता के लिए अपने बजट में वृद्धि की है, 80 प्रतिशत देशों ने यह सूचित किया है कि इन सेवाओं के लिए राष्ट्रीय स्तर पर निर्धारित लक्ष्यों को पूरा करने के लिए अभी भी बजट वृद्धि अपर्याप्त है।

इसलिए, महत्वाकांक्षी एसडीजी लक्ष्यों को पूरा करने के लिए, जोकि 2030 तक सुरक्षित रूप से प्रबंधित पानी और स्वच्छता सेवाओं तक सार्वभौमिक पहुंच के लिए लक्षित है, देशों को वित्तीय संसाधनों का अधिक कुशलता से उपयोग करना होगा और धन के नए स्रोतों की पहचान करने के प्रयासों में वृद्धि करना होगा।

वैश्विक आकलन यह भी दर्शाता है कि यह प्रयास उन विकासशील देशों के लिए विशेष रूप से महत्वपूर्ण है जहां वर्तमान राष्ट्रीय कवरेज लक्ष्य मूल आधारभूत संरचनाओं तक पहुंच प्राप्त करने पर आधारित हैं, और जो आवश्यक रूप से लगातार सुरक्षित और विश्वसनीय सेवाएं प्रदान नहीं कर सकते।

यह रिपोर्ट विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा, संयुक्त राष्ट्र-जल की तरफ से (स्वच्छता सहित सभी मीठे पानी से संबंधित मुद्दों के लिए अंतर-एजेंसी समन्वय तंत्र) जारी की गई है।

एसडीजी वैश्विक लक्ष्यों को पूरा करने के लिए, विश्व बैंक का अनुमान है कि बुनियादी ढांचे में निवेश प्रति वर्ष 114 बिलियन अमरीकी डॉलर (एक आंकड़ा जिसमें संचालन और रखरखाव लागत शामिल नहीं है) का तिगुना होना चाहिए।

जीएलएएसएस ग्लास का उद्देश्य:

ग्लोबल एनालिसिस एंड एसेसमेंट ऑफ सेनिटेशन एंड ड्रिंक-वॉटर (जीएलएएसएस) एक संयुक्त राष्ट्र-जल पहल है जिसकी नेतृत्व डब्ल्यूएचओ करती है। जीएलएएसएस उद्देश्यों को निम्नलिखित ढंग से परिभाषित किया गया है:

निविष्टियों की निगरानी (मानव संसाधन और वित्त के मामले में) और सक्षम वातावरण (कानून, योजना और नीतियों, संस्थागत और निगरानी व्यवस्था के संदर्भ में) बनाने में।

सभी के लिए वाटर, सैनिटेशन एंड हाइजीन (WASH) सिस्टम और सेवाओं को बनाए रखने और विशेष रूप से सबसे कमजोर आबादी समूहों के लिए बढ़ाने की आवश्यकता है। जीएलएएसएस देश स्तर पर मौजूदा डेटा स्रोतों के माध्यम से जानकारी एकत्रित करके वैश्विक और क्षेत्रीय दोनों स्तरों पर ऐसा करता है।

Advertisements