​सीसीएल की आम्रपाली विस्थापित गांव में विस्फोट से कई मकानो में पड़ी दरार । 

हाई कोर्ट ने भी माना विस्फोट से क्षतिग्रस्त हुए लोगो के मकान । 

विजय शर्मा 

टंडवा: सीसीएल की आम्रपाली परियोजना में वहां निवास कर रहे है लोगो की घर की छत विस्फोट से दरक गए है। यह विस्फोट आम्रपाली परियोजना क्षेत्र में कोयला निकालने के दौरान खदानों में किये जा रहे विस्फोट के कारण हो रहा है।विस्फोट इतना शक्तिशाली है कि विस्थापित गाँव के दर्जनों मकान दहल उठे है। वही कई मकानों में दरारें पड़ गयी है ।

ग्रामीणों का कहना है इस विस्फोट में सबसे ज्यादा जिम्मेवार आम्रपाली में कार्यरत कंपनियों का है जिसमे माँ अम्बे कंपनी के द्वारा सबसे अधिक विस्फोट वर्तमान में किया जा रहा है।घरों का खपडा वगैरह घर से गिर जा रहा है। इस समस्या को लेकर जहां विस्फोट से क्षतिग्रस्त मकानों का मुआवजा की मांग ग्रामीणों ने सीसीएल प्रबंधन से की है। आक्रोशित ग्रामीण विस्फोट का कार्य किसी भी समय बंद करने को लेकर गोलबंद हो सकते है। 

जनकल्याण कमिटी के अध्यक्ष आशुतोष मिश्रा का कहना है कि हाई कोर्ट के आदेश की भी अनदेखी की जा रही है वहीं कंपनी का रवैया ग्रामीण के हित में दिखाई नहीं पड़ता जिससे ग्रामीणों की नाराजगी बढ़ती जा रही है ।

Advertisements