​सरिया में डायन बिसाई के आरोप में एक महिला की पीट पीट कर हत्या एवं एक को घायल

दो दिनों के बाद मिली घटना की जानकारी, पुलिस ने किया शव को पोस्टमाटर्म के लिए भेजा 

नरेश नाथ गोस्वामी की रिपोर्ट 

गिरिडीह। सरिया प्रखंड के आदिवासी बाहुल क्षेत्र पनन्दना टांड में एक आदिवासी परिवार के द्वारा एक आदिवासी महिला की पीट पीट कर हत्या एवं एक अन्य महिला को पीट कर बुरी तरह से घायल कर दिया। 

प्राप्त जानकारी के अनुसार ग्रामीणों की माने तो पनन्दनाटांड़ गांव का ही रामु टुडू का 10 वर्षीय पुत्र वीरेंद्र टूडू पिछले 7 दिनों से बीमार चल रहा था। जिसका इलाज गांव में ही किसी झोला छाप डॉक्टर से करवाया जा रहा था। इसी बीच बीरेंदर टुडू की मौत 4 दिन पूर्व हो गया।

बाबा की भविष्यवाणी

रामु टुडू किसी झाड़ फूँक वाले के पास गया। उसने बताया कि तुम्हारे बच्चे की मौत भूत के द्वारा मारने से हुवा है और इसके पीछे तुम्हारे गांव का ही किसी महिला का हाथ है। 

मृतिका के पुत्र का कथन 

मृतका नन्हकी देवी (70 वर्ष) के पुत्र जयलाल टुडू और बुधन टुडू के अनुसार गांव के रामु टुडू, उसका भाई सुखदेव टुडू और उसके परिजन सोमवार की देर शाम को उसकी माँ नन्हकी देवी और पड़ोस की मुंगो देवी को डायन का आरोप लगा कर पकड़ कर आपने घर ले गये। सब परिवार मिलकर रात भर अपने घर के आंगन में उसकी पिटाई की। इस दौरान मृत्का के घर में कोई पुरुष सदस्य मौजूद नहीं धा। महिला सदस्य के द्वारा बिच वचाव के लिए जाने पर उनके साथ भी हल्का मारपीट कर उनलोगों को भगा दिया गया। मंगलवार की सुबह पीटाई से उसकी मौत हो गई। मौत होने के बाद शव को उनके घर के आँगन में लाकर फैंक दिए। वही एक अन्य महिला मुंगो देवी को धायल कर छोड़ दिया।

समाचार लिखे जाने तक पुलिस की तरफ से कोई आधिकारिक घोषणा नहीं हुई है।

Advertisements