इस अग्नी कांड में छोटे से बड़े अधिकारी तक शामिल

 

ब्रजेस कुमार

(मानवाधिकार स्पेशल न्यूज द्वारा प्रेषित खबर)

हमारे हिंदुस्तान की दूसरे नंबर की कोयला खान झारखण्ड की पिपरवार परियोजना है। प्रत्येक वर्ष यहाँ के सी.सी.एल. प्रबधन के सिर्फ कोयले निकालने का ही रिकॉर्ड बनाकर नही दिखाते बल्कि जितने कोयले को यहाँ से बहार भेजा जाता है उससे ज्यादा स्थानीय सी.सी.एल.प्रबंधन द्वारा बिना रख रखाव के जला दिये जाते हैं। साथ ही कितने तरह के रिकॉर्ड भी इसके साथ जला देते है। इस अग्नी कांड में छोटे से बड़े अधिकारी तक शामिल है लेकिन न तो इस पर सरकार की नजर है और ना ही स्थानीय प्रशासन की। 

इस मामले को हम मानवाधिकार स्पेशल न्यूज के माध्यम से माननीय प्रधानमंत्री महोदय एवं कोयला मंत्री महोदय को शोसल मीडिया ई मेल आई डी के माध्यम से यह जानकारी आप पहुंचायी गयी है जिससे यहाँ के सी.सी.एल. अधिकारियो पर राष्ट्र की सम्पति को क्षति पहुचाने मामला दर्ज कर क़ानूनी कार्रवाई की जा सके।

मीडिया एवं प्रेस से भी अपील की गयी है कि वे इस मामले को प्रमुखता दें।

Advertisements