युवाओं का पलायन सरकार के लिए चुनौती का विषय: महुआ माजी

​युवाओं को भटकने से रोकता है स्वरोजगार मेला: महुआ माजी

सुमित कुमार
रांची। झारखंड में स्वरोजगार की कोई कमी नहीं है। पूरी दुनिया जानती है कि यहां सम्पदा कोई कमी नहीं है। ऐसे में यहां के युवाओं का पलायन सरकार के लिए चुनौती का विषय होना चाहिए। उक्त बातें रांची के ऐतिहासिक मोहरबादी मैदान में मेगा ट्रेड एक्सपो मेले के उद्घाटन समारोह में आयीं झारखंड मुक्ति मोर्चा के केंद्रीय महिला अध्यक्ष डॉ. महुआ माजी जी ने कहीं। 

उन्होंने मेले के आयोजकों की तारीफ करते हुए कहा की ऐसे मेले के आयोजन से हजारों परिवारों के घर चलते हैं। जो अभिभावक अपने बच्चों को शिक्षित करते वक्त ये सोंचते हैं कि उनके बच्चे विदेश में काम करेंगे, ‘जिस तरह विदेशों में आये दिन भारत के होनहार बच्चों का सरेआम हत्या हो रही है, नागरिकता नही मिल पा रही है इत्यादि’, उन्हें अपनी सोंच बदलनी चाहिए। ऐसे में अभिभावक को चाहिए कि बच्चों को ऐसी शिक्षा दें कि वे अपने परिवार के साथ रहते हुए अपने देश, अपने राज्य, अपने समाज का नाम रौशन करें। जैसे जागृति फाउंडेशन के युवाएं कर रहे है।

उन्होंने झारखण्ड सरकार के ‘मोमेंटम झारखंड’ पर निशाना साधते हुए कहा कि झारखण्ड में व्यवसायियों की कोई कमी नहीं। यहां के व्यापार को बढ़ावा ना देकर विभिन्न राज्यों और देशों को झारखंड की सरज़मी पर आमन्त्रित करना झारखण्डवासियों के लिये एक आँख में सूरमा जैसा लगता है। 

उन्होंने आयोजकों को दिल से धन्यवाद देते हुए कहीं कि जिस मेले से लगभग 300 परिवारों का भरण पोषण हो  सकता है। ऐसे मेले का आयोजन हमेशा किया जाना चाहिए।

मंच पर मौजद रांची कॉलेज के प्राचार्य डॉ. यू सी मेहता ने कहा कि एक मंच पर देश के विभिन्न राज्यों के लोगों का आना रांची के लिए गर्व की बात है।

मुनचून राय ने कहा कि ट्रेड फेयर कुटीर और लहू उद्योगों का बाजार है। ये गरीबों और अमीरों का सामूहिक बाजार है।

ललित ओझा ने कहा की उत्पादक और उपभोक्ता के बिच सीधा सम्वाद और नया उत्पाद को बाजार में लाने का एक सरल और सुलभ तरीका ऐसे मेले ही हैं।

मंच पर मेले के सचिव कृष्णा कुमार, समन्वयक ऋषि कमल पाण्डेय, संजोजक नितेश कुमार सिंह, रौशन चौधरी मौजूद थे। मेले का आयोजन शुक्रवार 7 अप्रेल से 20 अप्रैल तक होगा। इस मेले में देश के विभिन्न राज्यों के स्टॉल लगाये गए हैं। प्रत्येक दिन रंगारंग कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा ताकि ज्यादा से ज्यादा आकर्षित होकर मेले से जुड़ सके। 

Advertisements