गिरिडीह में झोला-छाप डॉक्टरों (चिकित्सक) की चांदी

​क्राइम रिपोर्टर विजय, गिरिडीह 

अवैध रूप से चल रहे कई छोटे-बड़े चिकित्सालय (क्लीनिक)।

इन दिनों गिरिडीह शहर में, आस-पास के ग्रामीण क्षेत्रों से आए मरीजों की खैर नहीं। दूर-दराज क्षेत्र से आए ऐसे असहाय मरीज, शहर में पांव रखते ही दलालों की चपेट में पड़ जाते हैं। कुछेक रिक्शा-चालकों एंव दलाल इन भोली ग्रामीण मरीजों को झोला-छाप डॉक्टरों के अवैध रूप से चल रहे क्लीनिक तक पहुंचा देते है। जहां चिकित्सा के नाम पर उन मरीजों से मोटी रकम ऐंठ ली जाती है। बदले में इलाज के नाम पर चंद गोलियां देकर उन्हें विदा कर दिया जाता। 

इस प्रकार का ही एक झोला-छाप डॉक्टर गिरिडीह शहर अंतर्गत चंदौरी रोड में अपना डेरा जमाए हुए हैं। पूर्व में भी उपर्युक्त क्लीनिक पर सरकारी जाँच हुई तदोपरांत कार्रवाई होने के पश्चात भी यह झोला-छाप डॉक्टर यहां अपना पांव जमाए हुए हैं।

इस बावत बिनोवा भावे वि०वि० के  सीनेट सदस्य सह अभाविप नेता श्री रंजीत राय ने बताया कि इस प्रकार के अवैध रूप से चल रहे चिकित्सक एंव क्लीनिकों के खिलाफ हमसबों ने स्वस्थ्य महकमे को वक्त दर वक्त इसकी सुचना दी। कार्रवाई भी हुई, पर नतीजा वही रहा। अब भी ऐसे कई चिकित्सक एंव चिकित्सालय अवैध रूप से शहर में पांव पसारे हुए हैं और गरीब मरीजों का शारीरिक/आर्थिक दोहन कर रहे हैं। इस प्रकार की चिकित्सकों पर अविलंब कार्रवाई की नितांत आवश्यकता है।

Advertisements