​पंचायत सेवक को 5 वर्ष की सजा

 पलामू जिला व्यवहार न्यायालय के पंचम जिला एवं सत्र न्यायाधीश सह निगरानी के स्पेशल कोर्ट डीके पाठक की अदालत ने घूसखोरी के एक मामले में पंचायत सेवक संत प्रसाद गुप्ता को पांच वर्ष के कारावास की सजा सुनाते हुए पांच हजार रुपये अर्थदंड लगाया है। पंचायत सेवक पर आरोप था कि लातेहार प्रखंड अंतर्गत कैमा पंचायत में आठ फरवरी 2002 को बंधु उरांव से पंचायत सेवक एक हजार 250 रुपये रिश्वत ली थी। रिश्वत की यह राशि कैमा पंचायत के बरवा पतरा गांव में एक अखरा के निर्माण का बिल पास करने के लिए लिया गया था। सूचक बंधु उरांव के साथ आठ फरवरी 2002 को निगरानी के धावादल ने आवास पर जांच किया।

Advertisements