अब नाबालिग से हुआ एक्सीडेंट तो सजा भुगतेंगे परिजन

​मोटर व्हीकल संशोधन विधेयक को मंजूरी, नाबालिग से हुआ एक्सीडेंट तो सजा भुगतेंगे परिजन

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्क्षता में केंद्रीय मंत्रिमंडल ने आज मोटर व्हीकल (संशोधन) विधेयक 2016 को मंजूरी दे दी. उम्मीद है अगले हफ्ते ये विधेयक संसद के समक्ष पेश हो सकता है. इस बिल में यातायात से जुड़े नियमों को काफी कड़ा करने की कोशिश की गई है.
यातायात के नियमों का उल्लंघन करने के मामलों में जुर्माना तीन गुणा तक बढ़ाने की बात है. सड़क दुर्घटना में अगर किसी की मौत होती है तो उनके परिजनों को 4 महीने के भीतर मुआवजे के रूप में 5 लाख रुपये मिलेंगे. पहले इसमें 5 साल तक लग जाते थे.
अक्सर नाबालिग के गाड़ी चलाने और दुर्घटना के मामले सामने आते है. अगर कोई नाबालिग गाड़ी चलाता है और उससे हुई दुर्घटना में किसी की मौत हो जाती है तो उसके परिजनों पर 25 हज़ार तक का जुर्माना और 3 साल तक की कैद का प्रावधान किया गया है.
शराब पीकर गाड़ी चलाना, सड़क दुर्घटना का बड़ा कारण है. अगर कोई शराब पीकर गाड़ी चलाते हुए पकड़ा गया, तो 10 हज़ार का जुर्माना अदा करना होगा. फिलहाल ये जुर्माना 2 हज़ार रुपये है.

Advertisements