देवघर हवाई अड्डा की विस्तारीकरण में 300 करोड़ रुपये में 

रांची : राज्य सरकार देवघर हवाई अड्डा के विस्तारीकरण के लिए कृतसंकल्पित है। इसी के तहत 25 मार्च को झारखंड सरकार, रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन तथा भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण के बीच देवघर हवाई अड्डा के विस्तारीकरण के लिए एक एमओयू किया जायेगा। 
300 करोड़ रुपये की लागत से देवघर हवाई अड्डा का विस्तारीकरण किया जायेगा। अभी वर्तमान में 53.41 एकड़ भूमि पर हवाई अड्डा स्थित है। राज्य सरकार इसके अतिरिक्त 600.9 एकड़ भूमि भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण को तीस वर्षो के लीज पर नि:शुल्क उपलब्ध करायेगी। अर्थात कुल 654.31 एकड़ भूमि पर हवाई पट्टी, टर्मिनल भवन, पार्किंग, कार्गो कम्प्लेक्स, एयरपोर्ट रिहायशी कॉलोनी सहित अन्य संबंधित सुविधाओं का निर्माण किया जायेगा। 300 करोड़ रुपये में से 200 करोड रुपये रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन, 50 करोड़ रुपये झारखंड़ सरकार तथा शेष 50 करोड़ रुपये अथवा वास्तविक व्यय की राशि भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण द्वारा उपलब्ध करायी जायेगी। 
 झारखंड सरकार द्वारा कुल 437.70 एकड़ रैयती भूमि के अर्जन के फलस्वरुप मुआवजा भुगतान हेतु कुल 426.66 करोड़ रुपये का व्यय किया जा रहा है। हवाई अड्डा के संचालन प्रारंभ होने की तिथि से पांच वर्षों तक राज्य सरकार द्वारा नि:शुल्क विद्युत आपूर्ति तथा हस्तांतरित भूमि को संपत्ति कर आदि से मुक्त रखा जायेगा। राज्य सरकार द्वारा हवाई अड्डा के सुरक्षा की नि:शुल्क व्यवस्था सुनिश्चित की जायेगी।

Advertisements