#इंद्राणी दास ने रीजेनेरन साइंस प्रतिभा खोज प्रतियोगिता में शीर्ष पुरस्कार जीती

भारतीय मूल की अमेरिकी किशोरी इंद्राणी दास ने अमेरिका का सर्वोच्च विज्ञान पुरस्कार जीत लिया है। इंद्राणी को दिमागी चोट और बीमारी के इलाज से जुड़े शोध के लिए ‘रीजेनेरन साइंस टैलेंट सर्च’ में 2.50 लाख डॉलर (करीब 1.64 करोड़ रुपये) का प्रथम पुरस्कार मिला है।

  प्रतियोगिता में भारतीय मूल के अर्जुन रमानी और अर्चना वर्मा को क्रमश: तीसरा और पांचवां स्थान मिला। अर्जुन को बतौर पुरस्कार 1.50 लाख डॉलर दिए गए। वहीं अर्चना को बतौर पुरस्कार 90,000 डॉलर (करीब 59 लाख रुपये) की राशि दी गई। भारतीय मूल के ही प्रतीक नायडू और वृंदा मदन को क्रमश: सातवां और नौवां स्थान मिला। इनके अतिरिक्त फाइनल सूची में जगह बनाने वाले 40 बच्चों में आठ भारतीय मूल के बच्चे शामिल रहे। प्रतियोगिता में 1,700 से ज्यादा बच्चों ने हिस्सा लिया था।

  बता दें कि यह पुरस्कार अमेरिका का सबसे पुराना विज्ञान पुरस्कार है। जूनियर नोबेल कहा जाने वाला यह पुरस्कार सोसाइटी फॉर साइंस एंड द पब्लिक (एसएसपी) द्वारा प्रदान किया जाता है। इसकी शुरुआत 1942 में हुई थी। उस समय इसकी प्रायोजक वेस्टिंगहाउस कंपनी थी। 1998 से 2016 तक प्रतिष्ठित कंपनी इंटेल इसकी प्रायोजक रही थी। इस साल मेडिकल कंपनी रीजेनेरन इसकी प्रायोजक बनी। अब तक यह पुरस्कार पाने वाले 12 बच्चे आगे चलकर नोबेल पुरस्कार जीत चुके हैं।

Advertisements